ग्राहम इवान क्लार्क नाम के 17 साल के लड़के ने हैक किया था बराक ओबामा समेत कई बड़ी हस्तियों का ट्विटर अकाउंट, हुआ गिरफ्तार

388

मियामी: जुलाई में कई प्रमुख नेताओं, सेलिब्रिटी और प्रौद्योगिकी जगत के उद्योगपतियों के ट्विटर अकाउंट हैक हो गए थे। इन बड़ी हस्तियों के अकाउंट हैक करने की साजिश के सरगना तक जब पुलिस पहुंची तो हैरान रह गई। दरअसल, अकाउंट हैक करने और दुनिया भर में लोगों के साथ एक लाख डॉलर से अधिक के ‘बिटकॉइन’ का घोटाला करने वाले शख्स की पहचान फ्लोरिडा निवासी एक 17 साल के लड़के के रूप में की गई है। पुलिस ने लड़के को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं, इस मामले में 2 अन्य व्यक्तियों को भी आरोपी बनाया गया है।

अब लड़के पर वयस्क की तरह मुकदमा चलेगा

एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, ग्राहम इवान क्लार्क (17) को शुक्रवार को टम्पा में गिरफ्तार किया गया, जहां हिल्सबोरो स्टेट अटार्नी के कार्यालय में उस पर एक वयस्क के रूप में मुकदमा चलाया जाएगा। वह गंभीर अपराध के 30 आरोपों का सामना कर रहा है। बयान के मुताबिक, हैकिंग से फायदा उठाने वाले 2 और लोगों, मैसन शेफर्ड (19) और नीमा फजेली (22) को कैलिफोर्निया संघीय अदालत में अलग से आरोपित किया गया है। शेफर्ड ब्रिटेन का जबकि नीमा ओरलैंडो (अमेरिका) का निवासी है।

ओबामा समेत कई बड़े नामों के अकाउंट हुए थे हैक

हाल के वर्षों में सोशल मीडिया अकाउंट की सुरक्षा में सेंध लगाने के सर्वाधिक हाई प्रोफाइल मामलों में शामिल इस प्रकरण के तहत अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा, पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडेन के अलावा मार्क ब्लूमबर्ग और अमेजन के सीईओ जेफ बीजोस, माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर बिल गेट्स और टेस्ला के सीईओ एलोन मस्क के ट्विटर अकाउंट से फर्जी ट्वीट किए गए थे। साथ ही, कान्ये वेस्ट और उनकी पत्नी किम कर्दाशियां वेस्ट जैसी सेलिब्रिटी के टि्वटर अकाउंट भी हैक किए गए थे।
अकाउंट हैक कर की थी धोखाधड़ी की कोशिश
इन ट्वीट के जरिए एक अनाम बिटकॉइन पते पर प्रत्येक 1,000 डॉलर भेजने पर 2,000 डॉलर देने की पेशकश की गई थी। बिटकॉइन एक आभासी मुद्रा है। यह सिर्फ इंटरनेट पर उपलब्ध होती है और उसी के माध्यम से इसका लेन-देना होता है। इससे पहले ट्विटर ने कहा था कि हैकर ने हमारी अंदरूनी प्रणाली तक पहुंचने के लिए कुछ ट्विटर कर्मचारियों की गोपनीय जानकारी सोशल इंजीनियरिंग और स्मार्टफोन के जरिए हासिल कर अकाउंट का प्रबंधन करने वाले कंपनी के डैशबोर्ड में सेंध लगाई थी।

‘ट्विटर हैक जैसे हमले अंजाम देकर बचना मुश्किल’
कैरोलिना उत्तरी जिले के अमेरिकी अटार्नी डेविड एल एंडरसन ने कहा, ‘आपराधिक हैकर समुदाय में यह झूठी मान्यता है कि इस ट्विटर हैक जैसे हमले को अंजाम देकर वे बच निकलेंगे और उन्हें अपने इस अपराध के लिये कोई अंजाम नहीं भुगतना पड़ेगा। ऐसा नहीं होगा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here