कोच रवि शास्त्री ने की धोनी की जमकर तारीफ कहा उनके जैसा कोई नहीं

278

टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने 15 अगस्त को अपने 16 साल के शानदार करियर के समाप्ति का ऐलान करने वाले पूर्व कप्तान एमएस धोनी की जमकर तारीफ की है। धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहने के साथ ही पिछले एक साल से उनके भविष्य को लेकर लग रही अटकलों पर विराम लगा दिया। कप्तान के तौर पर भारतीय क्रिकेट को शिखर पर पहुंचाने वाले धोनी की प्रशंसा करते हुए शास्त्री ने कहा कि पूर्व कप्तान को खेल के सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में से एक गिना जाना चाहिए।

शास्त्री ने कहा, “यह आदमी किसी से पीछे नहीं है। उन्होंने आने वाले समय के लिए क्रिकेट को बदल कर रख दिया। उनकी सबसे बड़ी खूबसूरती ये थी कि उन्होंने सभी प्रारूपों में ऐसा किया। उन्होंने वर्ल्ड T20 , विश्व कप और कई आईपीएल खिताब अपने नाम किए हैं। टेस्ट क्रिकेट में भारत को नंबर 1 पर पहुंचाया और 90 टेस्ट मैच खेले।”

शास्त्री ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा, “एक विकेट कीपर के रूप में वह एक स्वाभाविक नहीं थे, लेकिन असरदार थे। मेरी नजर में उनकी स्टंपिंग और रन आउट शानदार थी। उसके पास ऐसे तेज हाथ थे कि वह किसी भी जेबकतरे से कई गुना तेज थे। बल्लेबाज को इस बात का अंदाजा भी नहीं होता था कि धोनी ने गिल्लियां बिखेर दी है और यह कुछ ऐसा है जो उनकी शख्सियत से जुड़ गया है।”

शास्त्री ने कहा, “क्रिकेट के किसी भी दौर के महानतम खिलाड़ियों में धोनी को शामिल करना होगा। जैसा कि मैंने अपने ट्वीट में कहा था कि हमेशा उसकी यादें मेरे जेहन में रहेंगी।”

भारत के लिये 350 वनडे, 90 टेस्टऔर 98 टी20 मैच खेलने वाले धोनी ने अपनी कप्तानी के दम पर भारतीय टीम को 2011 वर्ल्ड कप जिताने में अहम भूमिका अदा की। वर्ल्ड कप फाइनल में कप्तानी पारी खेलते हुए धोनी ने 28 साल बाद भारत को चैंपियन बनाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here