भारत की पहली सी प्लेन सर्विस कुछ दिनों के लिए बंद, जानें क्या है वजह और कितना है किराया

145

पीएम मोदी ने अहमदाबाद से केवड़िया के लिए साबरमती रिवरफ्रंट में जिस सी प्लेन सेवा की शुरुआत की थी फिलहाल अभी इसको एक महीने से भी कम समय के लिए रोक दिया गया है. इस सी-प्लेन के रखरखाव में दिक्कत आ रही है, जिसकी वजह से इसको रोका गया है. औपचारिक रूप से इस सी प्लेन सेवा की शुरुआत 1 नवंबर से हुई थी. स्पाइसजेट के प्रवक्ता का कहना है कि मालदीव से एयरक्राफ्ट के लौट आने के बाद सीप्लेन सर्विस 15 दिसंबर से फिर शुरू हो जाएगी.

आपको बता दें प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात में अहमदाबाद के साबरमती रिवरफ्रंट से केवडिया में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के बीच भारत की पहली सीप्लेन सर्विस को शुरू किया गया है. इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 31 अक्टूबर को सरदार वल्लभ भाई पटेल की 145वीं जयंती पर किया था.

केवड़‍िया और अहमदाबाद में वाटरड्रोम पर भी इसके टिकट की व्‍यवस्‍था की गई है. बता दें इस समय एक व्यक्ति को इसके लिए कम से कम 150 रुपए किराए के रूप में देने होते हैं. इसका किराया तय की गई सीटों के कोटा के हिसाब से तय होता है. इसके अलावा अधिकतम किराया इसका 4800 रुपए प्रति व्यक्ति तक रखा गया है.

आपको बता दें इस सुविधा का फायदा अब तक करीब 800 यात्री ले चुके हैं. यहां पर हर दिन 2 सी-प्लेन का संचालन किया जाता है. इसकी बुकिंग 30 अक्टूबर 2020 से शुरू हुई है और उड़ान की अवधि करीब 30 मिनट तक की रहती है.

स्पाइसजेट ने इसके लिये मालदीव से एक सीप्लेन खरीदा है, जिसमें एक साथ 12 यात्री सफर कर सकते हैं. साबरमती रिवरफ्रंट से स्टेच्यू ऑफ यूनिटी केवड़िया तक सी प्लेन सर्विस देश की पहली ऐसी सर्विस है. इसे सरकार ने उड़ान (उड़े देश का आम नागरिक) योजना के तहत शुरू किया था. इस सर्विस का संचालन स्पाइसजेट कंपनी कर रही थी.

इस समय इसमें 16 सीप्लेन मार्गों को शामिल किया गया है. सरकार के मुताबिक, इन सभी मार्गों पर परीक्षण हो चुका है. इसके बाद में इसको गुवाहाटी, अंडमान निकोबार और यमुना से उत्तराखंड में टप्पर बांध सहित विभिन्न मार्गों पर नियमित सेवा की योजना बनायी गयी है.