चाकू से महिला पार्टनर की हत्या, कटर मशीन से शव के 6 टुकड़े कर फ्रिज में रखा..

458

हैदराबाद में एक 55 वर्षीय महिला पार्टनर की हत्या करने के आरोप में बुधवार को शेयर बाजार के एक ब्रोकर को गिरफ्तार किया गया है. दोनों के बीच अवैध संबंध थे. कुछ दिनों पहले डंपिंग यार्ड में पीड़िता का कटा हुआ सिर मिला था, जिसके बाद एक हफ्ते तक चली जांच में कई सनसनीखेज खुलासे हुए और 48 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया. बताया जा रहा है कि आरोपी ने हत्या करने के बाद अपने पार्टनर के शरीर को पत्थर काटने वाली मशीन से 6 टुकड़ों में काटकर फ्रिज में रखा, उसके बाद अलग-अलग जगहों पर फेंक दिया.

दुर्गंध से बचने के लिए उस पर इत्र का छिड़काव किया

आरोपी ने पीड़िता के पैर और हाथ अपने घर के एक रेफ्रिजरेटर (फ्रीज) में रख दिए थे और दुर्गंध से बचने के लिए उस पर इत्र का छिड़काव किया था. हैदराबाद पुलिस को 17 मई को शहर में मुसी नदी के पास एक कटा हुआ सिर मिला था. इस रहस्य को सुलझाने के बाद गुरुवार को यह चौंकाने वाला अपराध सामने आया. यह मामला दिल्ली के श्रद्धा वालकर और निक्की यादव हत्याकांड से मिलता-जुलता है, जिसमें आरोपियों ने पीड़िताओं के शरीर के अंगों को काटकर फ्रीज में रखने के बाद अलग-अलग जगहों पर फेंका था. दक्षिण-पूर्व जोन के डीसीपी रूपेश चेन्नुरी ने कहा कि पुलिस ने शेयर बाजार में ऑनलाइन ट्रेडिंग करने वाले अविवाहित बी. चंद्र मोहन को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है. 55 वर्षीय आरोपी के 48 साल की यारम अनुराधा रेड्डी के साथ पिछले 15 साल से अवैध संबंध थे. कई साल पहले ही महिला के पति का निधन हो गया था, जिसके बाद उसने एक अस्पताल में नर्स के रूप में काम भी किया था. पीड़िता अनुराधा आरोपी चंद्र मोहन के साथ ही दिलसुखनगर स्थित चैतन्यपुरी कॉलोनी स्थित उसके घर में रह रही थी.

महिला 2018 से ब्याज पर जरूरतमंदों को पैसा उधार देती थी. उनके बीच मतभेद तब पैदा हुए, जब चंद्रमोहन ने उससे ऑनलाइन व्यापार करने के लिए लगभग 7 लाख रुपये लिए थे, लेकिन महिला के बार-बार अनुरोध के बावजूद आरोपी पैसे चुकाने में विफल रहा. फिर जब महिला ने उस पर पैसों के लिए दवाब बनाया तो वह उससे रंजिश रखने लगा और उसे जान से मारने की योजना बना ली.12 मई को आरोपी ने अनुराधा के साथ झगड़ा किया और उस पर चाकू से हमला कर दिया. उसने सीने और पेट पर चाकू से वार किया, जिससे उसकी मौत हो गई. हत्या करने के बाद आरोपी ने शव को टुकड़ों में काटकर ठिकाने लगाने के लिए पत्थर काटने की दो छोटी मशीनें खरीदीं. उसने धड़ से सिर काटकर काले पॉलीथिन के कवर में रख दिया. फिर उसने टांगों और हाथों को धड़ से अलग किया, टांगों और हाथों को रेफ्रिजरेटर में रख दिया और डिस्पोजल के लिए धड़ को एक सूटकेस में रख दिया.