अमेरिका में आसमान से बरस रही आग, ओरेगोन में लू से 95 की मौत, पोर्टलैंड में 47 डिग्री तक पहुंचा पारा

1139

अमेरिका का उत्तर-पश्चिम क्षेत्र रिकॉर्डतोड़ भीषण गर्मी से परेशान है। पिछले हफ्ते शुरू हुए इस खतरनाक हीटवेव से अभी तक सैंकड़ों लोगों की मौत हो गई। 38 डिग्री सेल्सियस से ऊपर के तापमान की मार झेलने वाले लोगों का इलाज करने वाले चिकित्साकर्मियों का कहना है कि भयंकर गर्मा से अभी और लोगों की मौत होगी। ओरेगन, वाशिंगटन और ब्रिटिश कोलंबिया में गर्मी से सैकड़ों मौतें हो चुकी हैं।

अमेरिका के ओरेगोन में प्रशांत उत्तरी पश्चिमी लू के चलते कम से कम 95 लोगों की मौत हो गई है। प्रांत के डेमोक्रेटिक गवर्नर केट ब्राउन ने रविवार को सीबीएस के ‘फेस द नेशन कार्यक्रम में कहा – ”इस तरह की घटनाओं के बाद हम हमेशा समीक्षा करते हैं और देखते हैं कि अगली बार क्या कर सकते हैं।”

47 डिग्री सेल्सियस पहुंचा तापमान

माना जा रहा है कि पिछले एक सप्ताह में अमेरिका के उत्तर-पश्चिमी हिस्से और दक्षिण-पश्चिमी कनाडा में लू से सैकड़ों लोगों की मौत हुई है। पोर्टलैंड में अधिकतम तापमान 47 डिग्री सेल्सियस और सिएटल में अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस के आंकड़े को छू चुका है। यहां ज्यादातर लोगों की मौत मुल्नोमा काउंटी में हुई है, जिसमें पोर्टलैंड शामिल है। इसमें ओरेगन में नर्सरी में काम करने वाले एक मजदूर की मौत शामिल है। हालांकि, 25 जून से शुरू हुई खतरनाक गर्मी से कुछ इलाकों को मंगलवार को थोड़ी राहत मिली है, लेकिन आंतरिक उत्तर-पश्चिम और कनाडा के कुछ हिस्सों के लिए में भयंकर गर्मी की चेतावनी अभी भी जारी है।

कनाडा में भी हाल बुरा

इधर, कनाडा में भी गर्मी से बुरा हाल है। ब्रिटिश कोलंबिया की मुख्य मृत्यु समीक्षक, लिसा लापोइंटे ने कहा कि उनके कार्यालय को 25 जून से बुधवार के बीच कम से कम 486 लोगों के अचानक मरने की रिपोर्ट मिली। आम तौर पर पांच दिनों की अवधि में प्रांत में लगभग 165 लोग मरते हैं। लिसा ने कहा कि भयंकर गर्मी से इनमें से कितनी मौतें हुई हैं, इसकी पुष्टि करना फिलहाल जल्दबाजी होगी, लेकिन उनमें से अधिकांश मौतों के पीछे यही होने की संभावना थी। वाशिंगटन स्टेट के अधिकारियों ने लगभग 30 मौतों को गर्मी से जोड़ा है।