दिल्ली में बाढ़ का अलर्ट: खतरे के निशान से ऊपर बह रहा यमुना घाट का पानी, निचले इलाकों में रह रहे लोगों को सुरक्षित स्थान पर जाने के निर्देश

    326

    बारिश के बाद और हथिनीकुंड बैराज से छोड़े गए पानी के चलते दिल्ली में शुक्रवार को यमुना नदी का जल स्तर 205.33 मीटर के ऊपर चला गया है। बता दें कि 205.33 मीटर दिल्ली में खतरे का निशान है, इसके ऊपर नदी बहे तो शहर के निचले इलाकों में बाढ़ का खतरा बढ़ जाता है। जलस्तर बढ़ने की वजह से गुरुवार को ही दिल्ली लोहे के पुल को बंद कर दिया गया था।

    खतरे के निशान से ऊपर बह रही यमुना का पानी अब खेतों की ओर बढ़ रहा है। निचले इलाकों में रह रहे लोगों को सुरक्षित स्थान पर जाने के लिए कहा गया है।

    हथिनीकुंड (समय) : छोड़ा गया पानी (क्यूसेक में) 
    06:00 बजे                 20485
    07:00 बजे                 20485
    08:00 बजे                 19056
    09:00 बजे                 19056
    10.00 बजे                 19056

    पुराने रेलवे ब्रिज पर पानी का स्तर
        समय            जलस्तर
    06:00 बजे        205.10
    07:00 बजे        205.17
    08:00 बजे        205.22
    09:00 बजे        205.26
    10:00 बजे        205.32
    11:00 बजे        205.34
    12:00 बजे        205.37

    इसके साथ ही बाढ़ के खतरे को देखते हुए प्रशासन ने नदी के डूब क्षेत्र के करीब के निचले इलाकों में अलर्ट जारी किया है। अधिकारियों द्वारा चौबीसों घंटे स्थिति की निगरानी की जा रही है। विभाग के मुताबिक, ऊपरी डूब वाले इलाकों में बारिश के कारण यमुना का जलस्तर बढ़ गया है।

    हरियाणा के यमुनानगर जिले में हथिनीकुंड बैराज से नदी में और पानी छोड़ा जा रहा है। पिछले 24 घंटों में पानी की दर 1.60 लाख क्यूसेक पहुंच गई है जो इस साल सबसे अधिक है। हरियाणा से गुरुवार को सुबह दस बजे तक 85,879 क्यूसेक की दर से यमुना में पानी छोड़ा जा रहा था। ऐसे में अगले 24 घंटो में जल स्तर बढ़ सकता है।