शारजाह में आज आईपीएल का 23वा मुकाबला, राजस्थान के सामने होगी दिल्ली के बल्लेबाजों को रोकने की कठिन चुनौती

348

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2020 में शुक्रवार को 23वां मुकाबला खेला जाएगा जिसमें राजस्थान रॉयल्स के सामने शानदार लय में नजर आ रही दिल्ली कैपिटल्स की कठिन चुनौतो होगी। मौजूदा IPL सीजन में दिल्ली की टीम ने जिस तरह का प्रदर्शन किया है, उसे शानदार से कम नहीं कहा जा सकता। टूर्नामेंट के अपने शुरआती 5 मैचों में 4 जीतकर दिल्ली पाइंट टेबल में दूसरे स्थान पर चल हैं।

इस सीजन दिल्ली ने बल्लेबाजी ही नहीं बल्कि गेंदबाजी और फील्डिंग में बेहतरीन का खेल परिचय दिया है जिसके चलते राजस्थान की टीम को उससे पार पाना आसान नहीं होगा। एक तरफ जहां राजस्थान टीम कुछ खिलाड़ियों के दम पर खेल रही है। वही, दूसरी तरफ दिल्ली के सभी 11 खिलाड़ी टीम के प्रदर्शन में अपना अहम योगदान दे रहे हैं।

दिल्ली की शानदार फॉर्म

दिल्ली की बल्लेबाजी की बात की जाए तो सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ, शिखर धवन, कप्तान श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत और मार्कस स्टोइनिस जैसे खिलाड़ी लगातार रन बना रहे हैं। इस टूर्नामेंट में जब भी दिल्ली की टीम का टॉप आर्डर रन बनाने में विफल रहा है तो मिडिल आर्डर और लोअर ऑर्डर ने पारी को संभालते हुए टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया है।

गेंदबाजी पर नजर डालें तो टीम के तेज गेंदबाज कगिसो रबाडा ने पिछले सीजन की फॉर्म को कायम रखते हुए इस बार भी अपनी खरतनाक गेंदबाजी की लय को बरकरार रखा है। यही वजह है कि रबाडा इस सीजन सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों में टॉप पर चल रहे हैं। वह 5 मैचों में महज 12.50 की औसत से 12 विकेट चटका चुके हैं।

अनुभवी स्पिनर अमित मिश्रा के जाने से टीम को एक जरुर झटका लगा है लेकिन अश्विन ने उनकी जिम्मेदारी को बखूबी संभाल लिया है। अश्विन को आने वाले मैचों में अक्षर पटेल से अच्छा साथ मिलने की उम्मीद है।

SRH vs KXIP : जब पंजाब का यह खिलाड़ी कर रहा था छक्कों की बरसात तो घबरा गए थे डेविड वॉर्नर, मैच के बाद कही ये बात

राजस्थान के सामने दिल्ली की बड़ी चुनौती

दूसरी तरफ मौजूदा IPL सीजन में राजस्थान रॉयल्स की स्थित चिंताजनक है। राजस्थान ने अब तक 5 मैच खेले हैं जिसमें उसे 3 में हार का सामना करना पड़ा है। राजस्थान की बल्लेबाजी सिर्फ कप्तान स्टीव स्मिथ, जोस बटलर और संजू सैमसन के दम पर टिकी है। इसमें सैमसन का बल्ला भी अब शांत पड़ चुका है। मैच के दौरान मुश्किल घड़ी में टीम के मिडिल आर्डर में पारी को संभालने वाले खिलाड़ी नदारद है जिसका नमूना हम पिछले कुछ मैचों में देख चुके हैं।

राजस्थान की गेंदबाजी का हाल उसकी बल्लेबाजी से भी खराब है। टीम की गेंदबाजी पूरी तरफ से जोफ्रा आर्चर पर निर्भर है। टॉम कुरैन उनका साथ देते नजर आए हैं और स्पिन में लेग स्पिनर श्रेयस गोपाल ने पिछले मैच में अच्छा किया था, लेकिन निरंतरता का अभाव है।

यह मुकाबला शारजाह के छोटे मैदान में खेला जाना हैं जहां पिछले मैचों हम सभी रनों की बरसात देख चुके हैं। ऐसे में फैंस के साथ-साथ दोनों टीमों को यहां अपने बल्लेबाजों से बड़ी पारी की उम्मीद होगी। देखना दिलचस्प होगा कि शारजाह में कौन बाजी मारने में सफल रहता है लेकिन निश्चित रुप से राजस्थान पर दवाब थोड़ा अधिक होगा।