देसी टीका हुआ सस्ता, कोविशील्ड के बाद अब भारत बायोटेक ने भी घटाई अपने टीके कोवैक्सीन की कीमत, राज्यों को अब 600 की जगह 400 रुपये चुकाने होंगे

343

राज्य सरकारों के लिए घटा दी है। राज्यों को कोवैक्सीन की एक डोज पर 400 रुपये प्रति डोज के रेट से ही मिलेगी। इससे पहले प्रति डोज 600 रुपये की का रेट राज्य सरकारों के लिए तय किया गया था। कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि मौजूदा समय में कोरोना से जंग के लिए पब्लिक हेल्थ सिस्टम को मजबूती देने के लिए यह फैसला लिया गया है। कंपनी का कहना है कि हम भारत में इनोवेशन को बढ़ावा देना चाहते हैं और हमारा लक्ष्य देश में पब्लिक हेल्थ केयर को मजबूत करना है। इससे पहले कोविशील्ड ने भी अपनी वैक्सीन की कीमत राज्य सरकारों के लिए 100 रुपये प्रति डोज घटाई थी।

इससे पहले राज्य सरकारों को 400 रुपये प्रति डोज देने का फैसला हुआ था, लेकिन बाद में उसे कंपनी की ओर से 300 रुपये प्रति डोज ही तय कर दिया गया। इससे पहले केंद्र सरकार की ओर से दोनों ही कंपनियों से वैक्सीन के रेट्स में कटौती की अपील की थी। इसके अलावा कई राज्य सरकारों की ओर से केंद्र और राज्य एवं अस्पतालों के लिए वैक्सीन का एक ही रेट तय किए जाने की मांग की गई थी।

कंपनी की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ”भारत बायोटेक देश में कोरोना महामारी की मौजूदा स्थिति से चिंतित है। पब्लिक हेल्थ केयर सिस्टम के सामने बड़ी चुनौती को देखते हुए हम राज्य सरकारों को इसे 400 रुपए प्रति डोज के हिसाब से उपलब्ध कराएंगे।”

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने 1 मई से वैक्सीन कंपनियों को राज्य सरकारों और निजी अस्पतालों को भी टीके की बिक्री की अनुमति दे दी है। देश में टीके का उत्पादन कर रहीं कंपनियां 50 फीसदी टीका केंद्र सरकार को देंगी तो 50 फीसदी टीका राज्य सरकारों और निजी अस्पतालों को बेच सकती हैं। राज्य सरकारों के लिए टीकों की कीमतों में गिरावट से सरकारी खजाने पर बोझ कम होगा तो राज्य सरकारें अधिक टीका खरीद कर सकेंगी।