दिल्ली-मुंबई को पीछे छोड़ कोरोना के नए हॉटस्पॉट बने बिहार-आंध्र प्रदेश समेत कई राज्य

92

बिहार में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2700 सौ से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं. यहां मरीजों की संख्या 55 हजार के पार पहुंच गई है. सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में पटना, मुंगेर, भागलपुर और मुजफ्फरपुर के नाम हैं. इसके अलावा अररिया, पूर्वी चंपारण, रोहतास और सीवान में संक्रमण की दर काफी तेज देखी जा रही है. पटना में कोरोना से मृतकों का आंकड़ा सबसे ज्यादा है. उसके बाद भागलपुर, गया, रोहतास, नालंदा, मुंगेर, मुजफ्फरपुर और पूर्वी चंपारण के नाम हैं.

पटना में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर 13 सुरक्षा कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इनमें बिहार पुलिस के 8 जवान और पटना पुलिस के 5 जवान शामिल हैं. दूसरी ओर, बिहार में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) के राज्य सचिव सत्यनारायण सिंह का कोरोना वायरस के कारण निधन हो गया. एक हफ्ते पहले सत्यनारायण सिंह की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी जिसके बाद उन्हें पटना एम्स में दाखिल कराया गया था. वहां इलाज के दौरान उनका निधन हो गया. बिहार की तरह अन्य राज्यों में भी कोरोना तेजी से पांव पसार रहा है. सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है.

महाराष्ट्र में रविवार को कोरोना के कुल 9509 मामले सामने आए. यहां केवल एक दिन में कोरोना संक्रमण से 260 लोगों की जान चली गई. हालांकि मरीजों का ठीक होना भी उसी रफ्तार से जारी है. यहां एक दिन में 9926 कोरोना मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज हुए हैं. महाराष्ट्र में अब तक 2,76,809 कोरोना मरीज ठीक हो चुके हैं. यहां की रिकवरी रेट 62.74 प्रतिशत पर पहुंच गई है. वहीं मृत्यु दर 3.53 फीसदी है. सिर्फ मुंबई में कोरोना के कुल 116436 मामले सामने आए हैं, जबकि 6447 लोगों की मौतें हुई हैं.

आंध्र प्रदेश में भी हालात खराब हैं. यहां बीते 24 घंटे में कोरोना के 8555 नए केस सामने आए हैं. साथ ही कोरोना संक्रमण से 67 मरीजों की मौत हुई है. आंध्र में अब तक कोरोना के 1,58,764 मामले सामने आए हैं. जबकि अब तक 1474 लोगों की मौतें हुई हैं. यहां पर अभी भी 74,404 मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि 82,886 मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं.

कभी महाराष्ट्र के बाद कोरोना के मामले में दूसरे स्थान पर आने वाली दिल्ली की स्थिति में तेजी से सुधार देखा जा रहा है. यहां कोरोना की पकड़ अब ढीली पड़ती जा रही है. पिछले 24 घंटे के आंकड़े देखें तो कोरोना के 961 नए मामले सामने आए हैं और 15 लोगों की मौत हुई है. दिल्ली में अभी 10,356 एक्टिव केस हैं और रिकवरी रेट 89.56 प्रतिशत हो गया है. अब दिल्ली में केवल 7.52 प्रतिशत एक्टिव मरीज बचे हैं. पहले एक साथ कई हजार मामले सामने आ रहे थे लेकिन अब यहां कोरोना मरीजों की संख्या हजार के नीचे चली गई है.

मध्यप्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी जारी है. भोपाल, इंदौर और ग्वालियर की स्थिति ज्यादा खराब है जहां बीते 24 घंटों में सौ से ज्यादा नए मरीज सामने आए हैं. इसी के साथ बीते दिन मध्यप्रदेश में कुल 921 नए मामले सामने आए हैं और फिर 10 मरीजों की मौत हो गई. स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, राज्य में कुल मरीजों की संख्या 33,535 हो गई है. सबसे ज्यादा 7555 मरीज इंदौर में 7555 हैं. यहां 107 मरीज सामने आए हैं. वहीं भोपाल में 24 घंटों में सबसे ज्यादा 158 मरीज सामने आए और कुल मरीजों की संख्या 6627 हो गई है. ग्वालियर में भी बीते 24 घंटों में 129 मरीज मिले और यहां कुल मरीजों की संख्या 2431 हो गई है.

केरल में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 1,169 नए मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या 25 हजार के पार चली गई है. नए मामलों में कम से कम 29 स्वास्थ्य कर्मी हैं जिनमें 11 राजधानी तिरुवनंतपुरम से हैं. राज्य में एक दिन में 688 लोगों के संक्रमण से उबरने के बाद कोरोना से स्वस्थ हुए लोगों की संख्या भी 14,467 हो गई है. राज्य में अब तक 82 लोग कोरोना वायरस संक्रमण से जान गंवा चुके हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here