Corona vaccination: अमेरिका से साथ ही कनाडा में भी नर्स को वैक्सीन लगाने के साथ शुरू हुआ टीकाकरण का अभियान

247
new variant found in britain
new variant found in britain

अमेरिका से साथ ही कनाडा में भी एक नर्स को टीका लगाने के साथ कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान शुरू हुआ। कनाडा के सबसे बड़े शहर टोरंटो में बुजुर्गों के लिए नर्सिंग होम रेकाई सेंटर में काम करने वाली नर्स अनिता क्वैदजन को सोमवार को फाइजर वैक्सीन की पहली खुराक दी गई। टीका लगाए जाने के बाद वहां मौजूद स्वास्थ्यकर्मियों ने ताली बजाकर उनका स्वागत किया। इससे पहले ब्रिटेन में फाइजर का ही टीका लगाया जा चुका है।

कोरोना महामारी से सबसे बुरी तरह से प्रभावित अमेरिका में सोमवार को इसके खिलाफ टीकाकरण अभियान की शुरुआत हुई। इसके तहत पहला टीका क्रिटिकल केयर नर्स को लगाया गया। अमेरिका में इस महामारी से लगभग तीन लाख लोगों की मौत हो चुकी है।

न्यूयॉर्क के क्वींस इलाके में एक यहूदी मेडिकल सेंटर में फ्रंटलाइन नर्स सैंड्रा लिंडसे को फाइजर और उसकी जर्मन पार्टनर बायोएनटेक द्वारा विकसित कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक दी गई। लिंडसे ने कहा, ‘मुझे आशा है कि यह हमारे इतिहास के सबसे कठिन वक्त के अंत की शुरुआत है।’

बता दें कि अमेरिका के खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने शुक्रवार को ही फाइजर की वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी थी। फाइजर के सीईओ ने कहा है कि वह भी टीका लगवाएंगे, ताकि लोगों में इसके सुरक्षित होने के प्रति भरोसा बढ़े।

न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस बात को खारिज किया है कि वह और व्हाइट हाउस के स्टाफ उन लोगों में शामिल हैं, जिन्हें पहले टीका लगाया जाएगा। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, ‘व्हाइट हाउस में काम करने वाले लोगों को अभी वैक्सीन नहीं लगेगी। मैंने यह व्यवस्था करने को कहा है। मुझे भी टीका लगाने का कार्यक्रम नहीं है, लेकिन उचित समय पर यह करूंगा।’

अमेरिकी कंपनी फाइजर और जर्मन कंपनी बायोएनटेक की ओर से विकसित वैक्सीन की 30 लाख खुराक इस हफ्ते मुहैया होने का अनुमान है। इस वैक्सीन के लिए अमेरिकी सरकार ने करार किया है। इसके तहत मार्च तक वैक्सीन की दस करोड़ खुराक की आपूर्ति होगी। लोगों को वैक्सीन मुफ्त में लगाई जाएगी।