बंगाल में तीन जगहों पर कोरोना टीकाकरण का ड्राई रन शुरु, प्रत्येक शिविर में 25-25 वॉलिंटियर रहेंगे उपलब्ध

165

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशा निर्देशानुसार सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ बंगाल में भी शनिवार को कोरोना वैक्सीनेशन (टीकाकरण) का ड्राई रन शुरु हुआ। इसके तहत बंगाल में तीन जगहों पर ड्राई रन शुरु किया गया है। राज्य स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, उत्तर 24 परगना जिले के मध्यमग्राम के आमडांगा स्थित प्राइमरी हेल्थ सेंटर, साल्टलेक के दत्ताबाद स्थित अर्बन प्राइमरी हेल्थ सेंटर के अलावा कोलकाता के विधाननगर स्टेट जनरल अस्पताल में शिविर लगाकर ड्राइ रन शुरु किया गया है।

प्रत्येक शिविर में 25- 25 वॉलिंटियर रहेंगे। इस दौरान टीकाकरण प्रक्रिया पूरी की जाएगी। उल्लेखनीय है कि ड्राई रन लोगों तक कोरोना वैक्सीन पहुंचाने की एक कवायद है। दरअसल, टीकाकरण अभियान के दौरान क्या दिक्कतें आ सकती है और इन्हें कैसे दूर किया जाए, यह जानने के लिए ड्राई रन कराया जाता है। गौरतलब है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 2 जनवरी को एक साथ टीकाकरण का ड्राइ रन कराने का निर्देश दिया था।

दूसरी ओर, वैश्विक महामारी कोरोना से जारी जंग के बीच नए साल में देशवासियों को वैक्सीन की सौगात मिली है। केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) के विशेषज्ञों की समिति ने शुक्रवार को ऑक्सफोर्ड एस्ट्रेजेनेका की वैक्सीन कोविशील्ड को आपात स्थिति में सशर्त इस्तेमाल की मंजूरी देने की सिफारिश कर दी है। यह पहली कोरोना वैक्सीन है जिसे देश में इजाजत दी जा रही है।

इस सिफारिश को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआइ) के पास भेजा गया है। अंतिम फैसला डीसीजीआइ ही लेंगे। ऑक्सफोर्ड की इस वैक्सीन का उत्पादन भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कर रही है। पुणे स्थित यह कंपनी दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता है। अब उम्मीद है कि भारत सरकार जल्द ही देशभर में कोरोना का टीकाकरण अभियान शुरू कर सकती है।