कोरोना की मार: अगले आदेश तक बंद हुआ मुंबई का हयात रीजेंसी होटल, कर्मचारियों को सैलरी देने के पैसे नहीं

495

कोरोना वायरस महामारी का सभी उद्योगों पर बुरा असर पड़ा है। होटल इंडस्ट्री पर भी संकट मंडरा रहा है। वैश्विक आतिथ्य फर्म हयात होटल कॉरपोरेशन ने मुंबई के हयात रीजेंसी होटल में अगले आदेश तक परिचालन निलंबित कर दिया है। 

वित्तीय चुनौतियों का हवाला देते हुए इस संदर्भ में हयात के उपाध्यक्ष और भारत में उसके प्रमुख सुंजय शर्मा ने कहा कि, ‘हयात रीजेंसी मुंबई के स्वामित्व का अधिकार रखने वाली कंपनी एशियन होटल्स (वेस्ट) लिमिटेड से होटल के परिचालन को बनाए रखने के लिए आवश्यक धनराशि नहीं मिलने के चलते हयात रीजेंसी मुंबई के सभी कामकाज को अस्थायी रूप से निलंबित करने का फैसला किया गया है।’

उन्होंने कहा कि होटल अगले आदेश तक बंद रहेगा। होटल की सेवाओं का आगे के लिए आरक्षण अस्थायी तौर पर बंद कर दिया गया है। शर्मा ने यह भी कहा कि हम अपने अतिथियों को सबसे अधिक मान देते हैं। हम होटल स्वामी के साथ मिलकर स्थिति का निराकरण करने में लगे हुए हैं।

कर्मचारियों को सैलरी देने के पैसे नहीं
होटल के अधिकारियों ने कहा कि उनके पास कर्मचारियों को सैलरी देने के पैसे नहीं हैं। मुंबई एयरपोर्ट के नजदीक स्थित इस होटल का मालिकाना एशियन होटल (वेस्ट) लिमिटेड के पास है। वित्त वर्ष 2020-21 के नौ महीनों में एशियन होटल्स (वेस्ट) को 109 करोड़ रुपये का घाटा हुआ। 10 दिन पहले ही एशियन होटल्स (वेस्ट) ने शेयर बाजार को सूचित किया था कि वह यस बैंक के लोन और ब्याज का भुगतान नहीं कर सकी है। एशियन होटल्स (वेस्ट) पर कुल बकाया उधारी 263 करोड़ रुपये है।

लॉकडाउन के कारण हुआ भारी नुकसान
दरअसल बीते वर्ष होटल इंडस्ट्री को लॉकडाउन के कारण भारी नुकसान उठाना पड़ा था और इस साल कोविड-19 की दूसरी लहर के कारण दोबारा झटका लगा। हयात रीजेंसी 400 कमरों की 5 स्टार प्रॉपर्टी है। मालूम हो कि फरवरी में एशियन होटल्स (वेस्ट) के चेयरमैन और एमडी सुशील कुमार गुप्ता ने कंपनी से इस्तीफा दे दिया था।