चीन ने फिर किया दुस्साहस, कश्मीर को बताया ‘विवादित क्षेत्र’, G20 बैठक में हिस्सा लेने से किया इनकार..

87

चीन ने भारत के आंतरिक मामलों में अपनी टांग अड़ाने की कोशिश एक बार फिर की है. चीन ने कहा कि वह जम्मू-कश्मीर में अगले हफ्ते होने वाली G20 टूरिज्म वर्किंग ग्रुप की बैठक में शामिल नहीं होगा. अपने तेवर से हर अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत की खिलाफत और पाकिस्तान की तरफदारी करने वाले चीन ने यहां तक कहने का दुस्साहस किया कि वह एक ‘विवादित’ इलाके (Disputed Territory) में ऐसी किसी भी बैठक के आयोजन का ‘मजबूती से’ विरोध करता है. भारत की अध्यक्षता में तीसरी G20 टूरिज्म वर्किंग ग्रुप की बैठक 22 से 24 मई तक जम्मू और कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में होने वाली है.

आतंकवाद को बढ़ावा मिलने के कारण लगातार असहज रहे

एक नियमित प्रेस कॉन्फ्रेंस में चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन से जब पूछा गया कि क्या चीन भारतीय राज्य जम्मू और कश्मीर में आयोजित G20 बैठकों का बहिष्कार करने वाला है? तो उन्होंने कहा कि ‘चीन विवादित क्षेत्र पर किसी भी प्रकार की जी20 बैठक आयोजित करने का दृढ़ता से विरोध करता है. हम इस तरह की बैठकों में शामिल नहीं होंगे.’ संयोग से चीन पाकिस्तान का करीबी सहयोगी है. जबकि भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध पाकिस्तान से सीमा पार आतंकवाद को बढ़ावा मिलने के कारण लगातार असहज रहे हैं.