चीन ने SCO समिट में ज़ाहिर की इच्छा, रूस के साथ मिलकर करना चाहता है ‘महान शक्तियों’ के रूप में काम

90
china-russia
china-russia

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने गुरुवार को अपने रूसी समकक्ष व्लादिमीर पुतिन से कहा कि बीजिंग महामारी के शुरुआती दिनों के बाद पहली विदेश यात्रा के दौरान रूस के साथ “महान शक्तियों” के रूप में काम करने के लिए तैयार है। शंघाई सहयोग संगठन(SCO) के नेताओं के शिखर सम्मेलन के दौरान चीनी राष्ट्रपति ने पुतिन से कहा, “चीन महान शक्तियों की भूमिका निभाने के लिए रूस के साथ प्रयास करने और सामाजिक उथल-पुथल से प्रभावित दुनिया में स्थिरता और सकारात्मक ऊर्जा डालने के लिए एक मार्गदर्शक भूमिका निभाने के लिए तैयार है।”

उन्होंने आगे कहा “हाल ही में, हम कोविड-19 महामारी के प्रभाव पर काबू पा रहे हैं, इसी बीच हमने कई बार फोन पर बात की और प्रभावी रणनीतिक संचार बनाए रखा ।हम शंघाई सहयोग संगठन की इस बैठक का उपयोग आपके साथ साझा चिंता के अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान करने के लिए तैयार हैं।”

आपको बता दे एससीओ चीन, रूस, भारत, पाकिस्तान और चार मध्य एशियाई देशों – कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, उज्बेकिस्तान और ताजिकिस्तान से बना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here