CBSE परीक्षाओं को लेकर सरकार के फैसले से कांग्रेस भी खुश, कहा- देश को रखा पहले, मिलकर करना है काम

257
congress list of candidates
congress list of candidates

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की खतरनाक हो चुकी रफ्तार को देखते हुए केंद्र सरकार ने सीबीएसई 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा को लेकर बुधवार को बड़ा फैसला किया। 12वीं क्लास की परीक्षा को जहां टाल दिया गया है तो 10वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। मोदी सरकार के इस फैसले पर कांग्रेस पार्टी ने भी खुशी जाहिर की है। हालांकि, लगे हाथ पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी को भी क्रेडिट दे डाला।

कांग्रेस पार्टी के आधिकारिक हैंडल से ट्वीट किया गया, ”बहुत अच्छा किया मोदी जी कि आपने राहुल गांधी, प्रियंका गांधी की सलाह को सुना और कांग्रेस पार्टी हमारे राष्ट्र को बदलने में एक लंबा रास्ता तय करेगी। यह हमारा लोकतांत्रिक कर्तव्य है कि लोगों की भलाई के लिए साथ काम करें। यह देखना अच्छा है कि बीजेपी ने अहंकार से आगे राष्ट्र को रखा।”

वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी केंद्र के फैसले पर खुशी जताई है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि 12वीं कक्षा की परीक्षा के बारे में भी कोई अंतिम निर्णय लिया जाए। उन्होंने ट्वीट किया, ”खुशी हुई कि आखिरकार सरकार ने 10वीं कक्षा की परीक्षा को रद्द करने का फैसला किया। बहरहाल, 12वीं कक्षा की परीक्षा के बारे में भी अंतिम निर्णय लेना चाहिए। जून तक छात्रों को बेवजह के दबाव में रखने का कोई मतलब नहीं है।” प्रियंका ने कहा, ”यह अनुचित है। सरकार से आग्रह करती हूं कि अभी फैसला किया जाए।”

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने देश भर में कोविड-19 महामारी के बढ़ते मामलों के मद्देनजर बुधवार को सीबीएसई की 10वीं कक्षा की परीक्षा रद्द कर दी, जबकि 12वीं कक्षा की परीक्षा स्थगित करने का फैसला किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में और केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, केंद्रीय शिक्षा सचिव तथा अन्य शीर्ष अधिकारियों की मौजूदगी में हुई एक बैठक में इस बारे में फैसला लिया गया।

प्रियंका ने पिछले कुछ दिनों में कई बार यह मांग उठाई थी कि 10वीं और 12वीं कक्षाओं की परीक्षाएं रद्द की जाएं। दोनों ही कक्षाओं की परीक्षाएं चार मई से शुरू होनी थी। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सहित कई अन्य नेताओं ने भी कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते खतरों के मद्देनजर सीबीएसई की परीक्षाओं को रद्द करने की मांग की थी।