भाजपा की जन आशीर्वाद यात्रा पर शिवसेना का हमला, राउत बोले – तीसरी लहर को न्योता

1208
Shivsena MP Sanjay Raut

महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना और विपक्षी भाजपा के बीच तकरार का नया मुद्दा सामने आ रहा है। भाजपा मोदी सरकार में चार नवनियुक्त केंद्रीय मंत्रियों के जरिए जन आशीर्वाद यात्रा निकाल रही है। यह शिवसेना को रास नहीं आ रहा है। बुधवार को शिवसेना सांसद संजय राउत ने सवाल किया कि ये यात्रा कोरोना की तीसरी लहर को न्योता नहीं देगी?

चार के खिलाफ केस दर्ज
ठाणे में सोमवार को केंद्रीय मंत्री कपिल पाटिल ने जन आशीर्वाद यात्रा निकाली। इसमें कोरोना नियमों के उल्लंघन को लेकर पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। 

शिवसेना नेता संजय राउत का कहना है कि यात्रा में बिना मास्क के लोगों की भीड़ जुटना और कोरोना का उल्लंघन करना कोरोना की तीसरी लहर को आमंत्रण देने जैसा है लिहाजा पुलिस कार्रवाई जायज है। राउत ने कहा कि कई लोग आशंका प्रकट कर रहे हैं कि इन यात्राओं से कोरोना नहीं फैलेगा? 

गुरुवार को राणे निकालेंगे यात्रा, जाएंगे ठाकरे स्मृति स्थल 
गुरुवार को केंद्रीय मंत्री नारायण राणे मुंबई में जन आशीर्वाद यात्रा निकालेेंगे। वे शिवाजी पार्क स्थित बाला साहब ठाकरे के स्मृति स्थल जाएंगे। यह यात्रा मुंबई के उन इलाकों से होकर गुजरेगी जहां शिवसेना का दबदबा है। दरअसल 2022 में मनपा के चुनाव होने वाले हैं। भाजपा नारायण राणे के जरिए मुंबई में रहने वाले कोंकण के लोगों को साधना चाहती है। वहीं, शिवसेना अपने गढ़ में उन्हें सेंध नहीं मारने देना चाहती है। 

मनपा चुनाव में मिशन-114 का जिम्मा
राणे 19 से 26 अगस्त तक महाराष्ट्र में जन आशीर्वाद यात्रा निकालेंगे। इसके माध्यम से वे शिवसेना को अपनी ताकत भी दिखाएंगे। पहले दो दिन तो वे मुंबई में यात्रा निकालेेंगे। दरअसल राणे को भाजपा के शीर्ष नेताओं ने मनपा चुनाव में मिशन-114 का जिम्मा सौंपा है। उन्हें भाजपा के 144 पार्षदों प्रत्याशियों को जीत दिलाना है। राणे इसमें जुट गए हैं। 

राज्यसभा के गर्भगृह में पहुंचे नेताओं ने कहां पहने थे मास्क : पुरी
उधर, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा है कि संजय राउत से कहिए कि यात्रा से संबंधित लोगों द्वारा मास्क नहीं पहनने पर हमने संज्ञान लिया है, लेकिन हम सरकार की नीतियों को जनता तक ले जाना बंद नहीं करेंगे। पुरी ने सवाल किया कि हमें यह नहीं कहना चाहिए, लेकिन उन दृश्यों को भी देखिए जब राज्यसभा के गर्भगृह में हंगामा करने वाले नेता एक दूसरे के समीप खड़े थे और उन्होंने कहां मास्क पहने थे?