तुनीषा मामले में हुआ बड़ा खुलासा, मौत से 15 मिनट पहले इस शख्स से एक्ट्रेस ने की थी बात..

32
suicide
suicide

तुनीषा शर्मा के सुसाइड केस में मुंबई के कोर्ट में सुनवाई हुई सुनवाई के दौरान एक्ट्रेस की जिंदगी को लेकर बड़ा खुलासा हुआ कोर्ट में बताया गया कि शीजन खान से ब्रेकअप के बाद तुनीषा की जिंदगी में अली नाम का शख्स आया था इस शख्स से ही तो तुनीषा ने अपनी जिंदगी के आखिरी 15 मिनट में अली से बात की थी अली के साथ तुनीषा के दोस्ती की खबर उनकी मां को भी थी

ब्रेकअप के बाद तुनीषा शर्मा ने डेटिंग एप टिंडर ज्वाइन कर लिया

दरअसल शीजन खान के वकील शैलेंद्र मिश्रा ने सुनवाई में यह खुलासा किया है वकील के मुताबिक शीजन से ब्रेकअप के बाद तुनीषा शर्मा ने डेटिंग एप टिंडर ज्वाइन कर लिया था यहां उनकी बातचीत एक अली नाम के लड़के से शुरू हुई अली के साथ तुनीषा डेट पर भी गई थी तुनीषा 23 दिसंबर तक अली से बात की थी 23 दिसंबर को अली के फोन से अपनी मां को वीडियो कॉल कर उनसे बात की थी अपनी मौत से 15 मिनट पहले तुनीषा से वीडियो कॉल पर बात की थी शीजन नहीं बल्कि अली से एक्ट्रेस के टच में थी शीजन के वकील का कहना यह भी है कि तुनीषा अपनी प्रॉब्लम्स के बारे में अपने को-स्टार और दोस्त पार्थ को बताया था उन्होंने पार्थ को रस्सी भी दिखाई थी यह बात की तरफ इशारा था कि वह सुसाइड करने के बारे में सोच रही थी जब शीजन खान को इस बारे में पता चला तो उन्होंने तुनीषा के परिवार को कांटेक्ट किया था और उन्हें इस बारे में बताया था इतना ही नहीं उन्हें तुनीषा का ध्यान रखने के बाद भी उनके परिवार से कहीं भी सुनवाई के दौरान शीजन के वकील ने यह खुलासा भी किया कि तुनीषा कुछ ऐसी दवाइयों का सेवन कर रही थी जो खतरनाक है इन दवाइयों को बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लेना चाहिए वही उर्दू सिखाने के बारे में भी शीजन खान के वकीलों ने उनकी तरफ से बात की उन्होंने कहा कि ईरान खान तनीषा को उर्दू सीखने के लिए फोर्स नहीं कर रहे थे उन्हें खुद उर्दू भाषा नहीं आती है वह डायरेक्टर की डिमांड के हिसाब से अपनी लाइंस याद करते हैं उनकी बहनों को भी उर्दू नहीं आती है तुनीषा की हिजाब पहने हुए वायरल हो रही तस्वीर भी सीरियल की है वह उनकी कॉस्टयूम का हिस्सा है इससे शीजन का कोई लेना देना नहीं है वही शीजन की तरफ से उनके वकील शैलेंद्र मिश्रा ने कहा कि मेरे धर्म की वजह से ही मुझे गिरफ्तार किया गया है उन्होंने इस लव जिहाद के एंगल को बनाया है वह मुझसे 2 दिन लगातार सवाल जवाब कर सकते थे और सच बाहर आ जाता मुझे गिरफ्तार करने की कोई जरूरत नहीं थी अगर मैं मुसलमान नहीं होता तो मेरे साथ यह सब नहीं किया जाता पुलिस ने मुझ पर बिना सबूत के कार्यवाही की अगर मैं रिश्ते में हूं तो मुझ पर आईपीसी की धारा 306 लगाने का क्या मतलब है मेरा एक भाई है जो ऑटिज्म से पीड़ित है वह मेरे बहुत करीब है मेरे बिना खाना भी नहीं खाता है उसे मेरी जरूरत है

इस मामले पर तुनीषा के वकील तरुण शर्मा का बयान सामने आया तरुण कहते हैं कि डिफेंस से कुछ डॉक्यूमेंट जमा करवाएं हैं हमें इसके जवाब के लिए कुछ समय चाहिए होगा ऐसे में हमने 11 जनवरी तक की मोहलत कोर्ट से मांगी है तरुण शर्मा ने शीजन पर एक बार फिर बार भी किया है उन्होंने सवाल उठाए कि जान अगर सुसाइड से पहले तो निशा ने उनसे बात नहीं की तो उन्हें कैसे पता चला कि किसी और से बात कर रही है यह बात अभी तक पुलिस भी पता नहीं लगा पाई है इससे हम आईपीसी की धारा 302 के तहत शक पैदा हो रहा है 306 को भूल जाइए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here