बड़ी साजिश: नेपाल बॉर्डर पर चीनी ‘जासूस’ गिरफ्तार, अब लखनऊ में होगी पूछताछ..

131

उत्तर प्रदेश की पुलिस को बड़ी कामयाबी हांसिल हुए है। प्रदेश की लखीमपुर खीरी की पुलिस ने जासूसी के लिए भारत आए चीनी नागरिक को गिरफ्तार कर लिया है। बतादें, उत्तर प्रदेश की एक अदालत ने भारत के खिलाफ जासूसी करने के आरोपी चीनी नागरिक वांग गौजुन की पुलिस हिरासत को पांच दिन की मंजूरी दी थी। जो शुक्रवार दोपहर को समाप्त हो गई। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश करते हुए आगे की जांचा करने के लिए पुलिस रिमांड बढ़ाने की मांग की। इस पर अदालत ने पुलिस को पूछताछ के लिए चार और दिन दिए हैं।

चीनी नागरिक बिना वैध वीजा के भारत में प्रवेश किया

लखीमपुर खीरी में रिमांड पर रखे गए गौजुन को आगे की जांच के लिए लखनऊ ले जाया जाएगा। आरोप है कि चीनी नागरिक बिना वैध वीजा के भारत में प्रवेश किया था। जिस कारण उस पर जासूसी की आशंका जताई गई थी और प्रारंभिक जांच के बाद उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। बतादें इस मामले में केंद्रीय और राज्य की कई एजेंसियां जांच कर रही हैं। पुलिस गोजुन के मोबाइल और कैमरे को अनलॉक करने की कोशिश में लगी है। चीनी नागरिक पर आईपीसी की धारा 121 और 121-ए के साथ-साथ पासपोर्ट अधिनियम की धारा 3 और 12, विदेशियों की धारा 14 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, गौजुन पहले चीन से थाईलैंड गया और फिर वहां से नेपाल पहुंचा। नेपाल से उसने 14 फरवरी को दिल्ली पहुंचने के लिए एक बस ली। इस दौरान उसने कई जगहों का दौरा किया, जिसमें कुछ महत्वपूर्ण जगहें भी शामिल थीं। गौजुन को 17 फरवरी को लखीमपुर खीरी में गौरीफंटा-नेपाल सीमा पर सशस्त्र सीमा बल ने नेपाल वापस जाते समय गिरफ्तार किया था।