बंगाल में मतदान: कोरोना, भीषण गर्मी और छिटपुट हिंसा के बीच सातवें चरण में हुई बंपर वोटिंग, भवानीपुर में ममता ने डाला वोट

354
Mamata Banerjee

पश्चिम बंगाल में सोमवार को सातवें दौर का मतदान समाप्त हो गया। निर्वाचन आयोग  के अनुसार सातवें चरण के मतदान में कुल 75.06 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। वहीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता के एक मतदान केंद्र पर वोट डाला और इसके बाद उन्होंने विक्ट्री साइन भी दिखाया।

 चुनाव आयोग ने कहा कि यह मत प्रतिशत शाम पांच बजे तक हुए मतदान के आधार पर आया है और उस वक्त मतदान जारी था। चुनाव आयोग ने कहा कि प्रदेश की 34 विधानसभा सीटों के 11,376 मतदान केंद्रों पर मतदान ‘शांतिपूर्ण ढंग से’ संपन्न हुआ।

चुनाव आयोग ने एक बयान में बताया कि इस चरण में 5,982 मतदान केंद्रों (52.58 फीसदी) पर वेबकास्टिंग के माध्यम से नजर रखी गई। पश्चिम बंगाल में सात चरणों के मतदान तक कुल 332.94 करोड़ रुपये नकद एवं अन्य चीजें जब्त की गईं।

चार राज्यों एवं एक केंद्रशासित प्रदेश में हुए चुनाव में अब तक 1,035.54 करोड़ रुपये (उप चुनावों में 12.11 करोड़ रुपये समेत) जब्त किए गए। पश्चिम बंगाल के बालीगंज विधानसभा क्षेत्र में बम निरोधक दस्ते की मदद से 15 जिंदा बम बरामद किए गए।

आयोग के मुताबिक, पहले से मिली सूचना के आधार पर हुगली जूट मिल कॉलोनी के निकट दो थैलों में 19 देसी बम बरामद किए गए। मालदा जिले में दो शरारती तत्वों को कुछ हथियारों के साथ गिरफ्तार किया गया। पश्चिम बंगाल में इस चरण के मतदान के दौरान कुल 11,376 बैलट यूनिट, 11,376 कंट्रोल यूनिट और 11,376 वीवीपैट का इस्तेमाल किया गया।

आयोग ने कहा कि इस चरण में ईवीएम और वीवीपैट के काम नहीं करने का अनुपात पिछले कुछ चरणों के तुलनात्मक ही था। एक ईवीएम के लिए एक कंट्रोल यूनिट, कम से कम एक बैलट यूनिट और एक पेपर ट्रेल मशीन का इस्तेमाल होता है।