भारत का नाम रोशन करने वाली आयशा ने कहा- खेल के साथ पढाई पर भी करेंगी फोकस..

127
sport
sport

भारत की बेटी जो दिल्ली के मुस्तफाबाद में रहने वाली है, नाम है आयशा। आयशा ने एशियन कॉन्टिनेंटल रोप स्किपिंग चैम्पियन में 2 गोल्ड और 1 सिल्वर जीतकर देश को एक बार गौरवशाली क्षण दिया है। आयशा दिल्ली के सर्वोदय कन्या विद्यालय में पढ़ाई करती है। इनके पिता का नाम शमीम अहमद है , जो टेलर का कार्य करते है। आयशा की इस उपलब्धि से उनके माता पिता दोनों खुश है। कहते है न , कोई भी काम बड़ा नही होता है बस मेहनत की जरूरत होती है इसीलिए इनका परिवार आज उनकी बेटी पर गर्व कर रहा है।

माँ ने उनका सब से ज्यादा सपोर्ट किया

दरअसल आयशा का कहना है कि वो अपने देश के लिए कुछ काम करना चाहती है जिससे सब आयशा का नाम जान सके आयशा के घर मे उनकी माँ रिहाना और चार बहने और एक भाई है। उनकी बहन की शादी हो चुकी है। आयशा के तीन बहन एक भाई है ,वह सबसे छोटी है। आयशा ने कहा कि उनकी माँ ने उनका सब से ज्यादा सपोर्ट किया है जो कि हर माँ का फर्ज होता है। उनकी माँ ने अपना फर्ज निभाया है। घर की परिस्थितिया को देखते हुए वो कहती है कि अपनी छोटी बहनों को डॉक्टर बनाना चाहती है। आयशा ने कहा कि खेल के साथ साथ अपनी पढ़ाई पर भी फोकस करूंगी। आयशा सबसे पहले अपने पापा का सपना पूरा करेगी। उन्हें अपने कोच की तरह खिलाड़ी बनकर बताना है।

वो कहना चाहती है कि जिन्होंने उनका हौसला बढ़ाया और उनको इतने ऊंचे मुकाम पर पहुचाया है वो धन्यवाद देना चाहती है। बता दे कि 2016 में पिछली प्रतियोगिता में विश्व रिकॉर्ड के कठिन परिक्षम के बाद गोल्ड मैडल जीता था। विश्व जूनियर में सिमा पुनिया और नवजीत कोर ने चक्का फ्रेंच में 2012 में गोल्ड मैडल जीत था।