अमेरिका के करीब जा रहा हैं आर्मीनिया, रूस से बिदका एक और देश..

30
russia
russia

आर्मीनिया के प्रधानमंत्री निकोल पशिनयान ने कहा कि उनके देश ने रूसी प्रभुत्व वाली सुरक्षा संधि द्वारा तैयार योजना के तहत सैन्यभ्यास की मेजबानी करने से मना कर दिया है प्रधानमंत्री की इस घोषणा से यह पता चलता हैं कि सरकार का रूस के साथ तनाव बढ़ता जा रहा है

रूसी शांति रक्षकों की आलोचना कर रहे

दरअसल प्रधानमंत्री पशिनयान आर्मीनिया और अलगाववादी क्षेत्र को जोड़ने वाले हैं गलियारे से मुक्त आवागमन सुरक्षित करने से असफलता को लेकर रूसी शांति रक्षकों की आलोचना कर रहे हैं जिसे आधारबेजान के कार्यकर्ताओं करीब 1 महीने से बंद किए हुए हैं प्रेस कॉन्फ्रेंस में संबोधित करते हुए कहा कि हमारा मानना है कि रूसी प्रभुत्व वाले सामूहिक सुरक्षा संधि संगठन द्वारा जिस साल तैयार सैनीभ्यास के योजना मौजूदा परिस्थितियों में अनुचित है उन्होंने कहां कम से कम इस साल यह सैन्यभ्यास नहीं हो सकता।

वहीं रूस को छोड़ आर्मीनिया अब अमेरिका का साथ ज्यादा दिख रहा है पिछले साल अमेरिकी सीनेट की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने यहां का दौरा किया था 1991 में रोज से अलग होने के बाद किसी बड़े अमेरिकी नेता का यह पहला दौरा था स्पीकर ने अपने दौरे में आर्मीनिया के पीएम पशिनयान से मुलाकात की थी और दोनों देशों के बीच के संबंधों को मधुर बनाने पर चर्चा की थी तभी से यह अटकलें लगनी शुरू हो गई थी कि यह देश से छटक रहा है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here