लखीमपुर खीरी मामला: राज्यमंत्री का पद छिनने की अटकलों के बीच अमित शाह से मिलने पहुंचे अजय मिश्र टेनी

225

केंद्र सरकार में गृह राज्यमंत्री का पद संभाल रहे अजय मिश्र टेनी बुधवार दोपहर को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलने पहुंचे। बताया गया है कि शाह ने टेनी को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई घटना को लेकर तलब किया है। दरअसल, अजय मिश्र के बेटे आशीष मिश्र पर आरोप है कि उनके काफिले ने प्रदर्शनकारी किसानों पर गाड़ी चढ़वा दी। इस घटना में भाजपा मंत्री के परिवार का नाम सामने आने के बाद से भाजपा आलाकमान उनसे नाराज बताया गया है। 

इससे पहले खबर मिली कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र को जिस सरकारी कार्यक्रम में जाना था, उसे स्थगित कर दिया गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलेपमेंट (बीपीआरडी) ने अपने नेशनल कॉन्फ्रेंस ऑफ हेड्स ऑफ प्रीजन ऑफ ऑल स्टेट्स एंड यूनियन टेरिटरीज कार्यक्रम में केंद्रीय गृहराज्य मंत्री अजय मिश्र को चीफ गेस्ट के तौर पर बुलाया गया था। लेकिन इसे स्थगित करने के बाद बीपीआरडी ने ऐसा कदम उठाने का कोई स्पष्ट कारण भी नहीं दिया। इससे पहले सामने आया था कि अजय मिश्र लखीमपुर की घटना के बाद आज पहली बार आधे घंटे के लिए नॉर्थ ब्लॉक स्थित अपने ऑफिस में बैठे थे।

अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र के खिलाफ पुलिस ने रविवार की घटना को लेकर केस दर्ज किया है। हालांकि, अजय मिश्र ने किसान संगठनों के दावे के उलट कहा है कि उनका बेटा घटनास्थल पर मौजूद ही नहीं था। उन्होंने यहां तक कहा कि उनके पास सबूत है कि आशीष उस वक्त एक दूसरी जगह कार्यक्रम में हिस्सा ले रहा था। 

अजय मिश्र ने उल्टा किसानों पर आरोप लगाते हुए कहा है कि जब उपद्रवियों ने भाजपा कार्यकर्ताओं को ले जा रही गाड़ियों पर पथराव किया, तब एक गाड़ी नियंत्रित हो गई, जिसके नीचे आने से कुछ किसानों की जान चली गई। इसके बाद कार में सवार चार लोगों को प्रदर्शनकारियों ने निकालकर जबरदस्त तरीके से पीटा, जिससे उनकी जान चली गई।