हांगकांग में कोरोना की चौथी लहर, सरकार ने उठाए संक्रमण रोकने के जरूरी कदम

173

पूरी दुनिया में दस माह बाद भी कोविड-19 का कहर लगातार जारी है। आलम ये है कि दुनिया के कई देशों में इसकी तीसरी और चौथी लहर सामने आ गई है। जी हां। हांगकांग में कारोना वायरस की चौथी लहर आने की बात कही जा रही है। वहीं अमेरिका में तीसरी और यूरोप के कई देश इसकी दूसरी लहर का सामना कर रहे हैं। हांगकांग की ही बात करें तो दो ही दिन पहले वहां पर 43 नए मामले सामने आए थे, जिसके बाद यहां पर चौथी लहर आने की बात कही गई है। यहां पर चौथी लहर ऐसे समय में आई है जब हांगकांग और सिंगापुर एयर ट्रेवल बबल स्‍कील लॉन्‍च करने वाले थे, लेकिन अब फिलहाल इसको टाल दिया गया है। इस योजना के तहत इन दोनों के बीच सफर करने वालों को क्‍वारंटीन होने से मुक्ति दे दी गई थी। फिलहाल इन दोनों के बीच एक दिन में एक ही विमान सेवा है। इसके जरिए 200 यात्री एक दूसरे के यहां आ सकते हैं।

हांगकांग मीडिया की मानें तो फिलहाल यहां पर आई चौथी लहर के सोर्स के बारे में पता नहीं चल सका है। हालांकि सरकार को शक है कि इसके पीछे हांगकांग में खुले डांस स्‍कूल हो सकते हैं। इसके लिए सरकार ने 14 ऐसे डांस स्‍कूलों को भी चिंहित किया है जिनपर उसे शक है। सरकार की तरफ से अपील की गई है कि इस माह इनमें आने वाले इसकी जानकारी को सार्वजनिक जरूर करें। इसके बाद में इन सभी का टेस्‍ट करवाया जाएगा और मुमकिन है कि इन पर जुर्माना भी लगाया जाए। हांगकांग में कोविड-19 की रोकथाम के लिए बनाए गए नए नियमों में यदि कोई इसका टेस्‍ट सरकार के कहने के बाद भी नहीं कराता है तो उस पर 19 हजार रुपये से अधिक (2000 हांगकांग डॉलर) का जुर्माना किया जा सकता है। इसके अलावा इसमें छह माह जेल की सजा का भी प्रावधान है। इसके अलावा सरकार कुछ समुदायों की कोविड-19 की जांच को जरूरी करने पर भी विचार कर रही है। इसमें टेक्‍सी ड्राइवर, होम केयर वर्कर शामिल हैं।

हांगकांग में कोविड-19 की चौथी लहर को देखते हुए सरकार एक दूसरे से दूरी बनाए रखने के नियम को और सख्‍त बना रही है। इसके तहत रेस्‍तरां में ग्रुप में आने वाले लोगों की संख्‍या को छह से घटाकर चार कर दिया गया है। लाइव म्‍यूजिक और डांस को प्रतिबंधित कर दिया गया है। इस तरह की सभी जगह को रात 2 बजे तक बंद करने के आदेश भी दिए गए हैं। होटल के कमरे में भी चार से अधिक लोगों के एकत्रित होने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।