हरियाणा: दहेज व मारपीट से तंग हार के दो बच्चों की मां ने कुएं में कूदकर दी जान

469

हरियाणा के भिवानी जिले में दो बच्चों की मां ने कुएं में कूद कर जान दे दी. हालांकि मृतकों के परिजनों का आरोप है कि उनकी बेटी को दहेज की बली चढ़ी है और उसे मार कर कुएं में डाला गया है. फ़िलहाल सदर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

बताया जा रहा है कि गांव आसलवास मरहेटा निवासी क़रीब 35-36 वर्षिय निर्मला उर्फ़ नीरू की शादी 23 जून 2007 में बापोडा गांव निवासी बजरंग के साथ हुई थी. निर्मला की गांव बापोडा के जोहड़ के पास बने कुएं में शव मिला. सूचना पाकर सदर थाना पुलिस के एसआई सुरेश गोयत अपनी टीम के साथ मौक़े पर पहुंचे और शव को कुएं से निकाल पोस्टमार्टम के लिए चौधरी बंसीलाल नागरिक अस्पताल लाया गया.

पुलिस को मृतका निर्मला के ससुराल वालों ने सूचना दी थी कि निर्मला ने कुएं में कूद कर जान दे दी है. पर मृतका के पिता शुभराम मे आरोप लगाया कि उसकी बेटी को ससुराल वाले दहेज की माँग को लेकर बार-बार तंग करते व मारपीट कर घर से निकाल देते थे. कई बार पंचायत में समझौता हुआ, लेकिन इस बार उन्होंने उसे जान से मार कर कुएं में फेंक दिया.

मामले की जांच कर रहे एसआई सुरेश गोयत ने बताया कि सूचना मिलते ही शव क़ब्ज़े में लिया और मृतका के पिता की शिकायत पर आरोपितों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर जाच शुरू कर दी है. छठी व तीसरी कक्षा में पड़ने वाले दो बच्चों की मां की शादी के 13 साल बाद मौत की गुत्थी फ़िलहाल पुलिस के लिए पहेली बन गई है. पर ऐसी घटनाएं आए दिन सामने आती है, जिनका मूल कारण छोटी छोटी बातों को लेकर होने वाले घरेलू झगड़े हैं जो देखते ही देखते जानलेवा साबित होते हैं.