सुनील गावस्कर ने बीसीसीआई पर साधा निशाना कहा कि पिता बनने पर नटराजन को ऑस्ट्रेलिया लाया गया और विराट कोहली को छुट्टी दी गई

759

सुनील गावस्कर ने टीम इंडिया मैनेजमेंट पर सवाल उठाते हुए कहा कि टी नटराजन एक चैंपियन गेंदबाज हैं, उन्होंने टी20 फॉर्मेट में खुद को साबित किया है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 सीरीज में भी उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया, इसके बावजूद टीम इंडिया ने उन्हें टेस्ट मैचों की तैयारी के लिए नेट गेंदबाज बनाया हुआ है. गावस्कर ने कहा- ‘टी नटराजन आईपीएल प्लेऑफ के दौरान पिता बने थे और उन्हें ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज तक रोका गया. वो भी टीम में नहीं बल्कि एक नेट गेंदबाज के तौर पर. जरा सोचिए. एक मैच विनर गेंदबाज और दूसरे फॉर्मेट में नेट बॉलर. नटराजन सीरीज खत्म होने के बाद जनवरी के तीसरे हफ्ते में भारत लौटेंगे और तभी अपनी बेटी को पहली बार देखेंगे. और एक कप्तान विराट कोहली हैं जो पहले टेस्ट के बाद ही अपने बेटे के जन्म के लिए वापस जा रहे हैं.’

विराट कोहली को बीसीसीआई ने पितृत्व अवकाश क्या दे दिया, जैसे बवाल ही हो गया? पूर्व कप्तान और महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने इस मुद्दे पर बीसीसीआई पर निशाना साधा है. सुनील गावस्कर ने कड़े शब्दों में कहा कि बीसीसीआई ने एक ओर जहां टी नटराजन को अपनी नवजात बच्ची को देखने की इजाजत नहीं दी और उन्हें बतौर नेट गेंदबाज ऑस्ट्रेलिया ले गए. वहीं दूसरी ओर उसने टीम इंडिया के कप्तान को बीच सीरीज में छुट्टी दे दी है. सुनील गावस्कर यहीं नहीं रुके, उन्होंने साथ ही ये भी कहा कि नटराजन जैसे चैंपियन गेंदबाज को सिर्फ नेट्स पर बॉल फेंकने के लिए रखा गया है, ये अपने आप में ही अजीब बात है.

बता दें टी नटराजन ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कैनबरा में वनडे डेब्यू किया था जहां उन्होंने दो विकेट अपने नाम किये थे. इसके बाद बायें हाथ के इस तेज गेंदबाज ने 3 मैचों में 6 शिकार किए. गजब की बात ये है कि उनका इकॉनमी रेट 7 रन प्रति ओवर से भी कम रहा था. मोहम्मद शमी की चोट के बाद उन्हें टेस्ट टीम में शामिल करने की आस थी लेकिन ऐसा हुआ नहीं.