शिवसेना सांसद संजय राउत की केंद्र सरकार से मांग कहा -पीएम केयर फंड में बहुत पैसा पड़ा है, इनसे मृतक किसानों के परिवारों की मदद की जाए

527
Shivsena MP Sanjay Raut

किसानों के इरादों के आगे आखिरकार केंद्र की मोदी (PM Narendra Modi) सरकार को फैसला बदलना पड़ा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को तीनों विवादास्पद कृषि कानूनों को वापस (Withdrawal of agricultural laws) ले लिया. प्रधानमंत्री ने देश को 18 मिनट के संबोधन में यह बड़ी घोषणा की. उन्होंने कहा कि ये कानून किसानों के हितों को ध्यान में रखकर लाए गए थे, लेकिन कुछ किसानों को इसके फायदे समझाने में सरकार असफल हुई. ये कृषि कानून वापस तो ले लिए गए. लेकिन इन कानूनों को रद्द करवाने के लिए किसानों के आंदोलन में कई किसानों की मौत हो गई. ऐसे किसानों के परिवार की मदद की मांग की जा रही है. आज (21 नवंबर, रविवार) पत्रकारों से बात करते हुए शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने इस मांग का समर्थन किया है.

संजय राउत ने कहा, ” किसानों की मदद की जाए. देशभर से यह मांग की जा रही है. पिछले डेढ़ साल में 700 के करीब किसानों की मौत हुई है. इनमें से कुछ सिंधु बॉर्डर में, कुछ गाजीपुर बॉर्डर में तो कुछ पुलिस की गोलियों से मर गए. ये सभी तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ लड़ रहे थे. प्रधानमंत्री ने ये कानून वापस लिए. सरकार को अपनी गलती समझ आई. लेकिन इस गलती की सजा किसानों को भुगतनी पड़ी. किसानों के परिवार मुश्किल में आ गए हैं. इसलिए केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री उनकी मदद करें.”

‘पीएम मोदी सहृदय हैं, मृतक किसानों के परिवारों की मदद करेंगे’
संजय राउत ने कहा, “पीएम केयर फंड में ढेर सारा पैसा पड़ा हुआ है. उस फंड से किसानों को मदद की जा सकती है. किसानों और देश से माफी भर मांग लेने से काम चलने वाला नहीं है. उन 700 परिवारों को आधार देना जरूरी है. मुझे विश्वास है कि प्रधानमंत्री सहृदय हैं. वे मदद करेंगे.”