राहुल गांधी का प्रधानमंत्री मोदी पर हमला- कोरोना नहीं, गरीबों पर आघात साबित हुआ लॉकडाउन

414
Rahul Gandhi targets Modi Government

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर केंद्र की मोदी सरकार पर कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति को ठीक से न संभालने का आरोप लगाया है। बुधवार को कहा कि लॉकडाउन, कोरोना के खिलाफ तो कारगर नहीं हुआ लेकिन गरीबों के लिए जरूर आघात साबित हुआ। यह छोटे व्यवसायों और असंगठित क्षेत्र के लिए मौत का परवाना साबित हुआ है।

अर्थव्यवस्था और लॉकडाउन पर अपनी वीडियो सीरीज के चौथे हिस्से को जारी करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ देश में लागू किया गया लॉकडाउन देश के गरीबों, युवाओं, मजदूरों, किसानों और छोटे व्यापारियों के लिए आघात साबित हुआ। हमें इसे समझना होगा और इसके खिलाफ खड़े होना है। कोरोना के नाम पर जो कुछ किया गया, वो असंगठित क्षेत्र पर हमले की तरह साबित हुआ। 21 दिन में कोरोना के सफाए की बात कही गई थी, लेकिन इससे करोड़ों रोजगार और काम-धंधों का सफाया हो गया। राहुल ने अपना यह वीडियो हिंदी में ट्वीट के साथ जारी किया है। बता दें कि राहुल गांधी पिछले काफी समय से मोदी सरकार पर हमलावर हैं।

कोरोना को लेकर हो रही राजनीति पर कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने एक ट्वीट कर कहा कि कोरोना के कारण देश की आर्थिक राजधानी मुंबई बुरी तरह बदहाल है लेकिन कुछ लोग समस्या का समाधान करने की जगह राजनीतिक हित साधने में जुटे हैं। उन्होंने कहा कि इस समय सभी दलों को एक साथ आकर अपनी वरीयताओं को तय करना चाहिए।

तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले

भारत में रोजाना बड़ी संख्या में सामने आ रहे संक्रमित लोगों के चलते सक्रिय मरीजों का आंकड़ा नौ लाख को पार कर गया है। 60 फीसद से अधिक सक्रिय केस सिर्फ पांच राज्यों में ही हैं। हालांकि, कुल मामलों में से ठीक होने वाले मरीजों की बात करें तो यह आंकड़ा करीब 78 फीसद पर पहुंच गया है। यह दर्शाता है कि देश में रोजाना बड़ी संख्या में मरीज ठीक भी हो रहे हैं। 74 हजार से अधिक लोगों की अब तक मौत हुई है। हालांकि, अमेरिका जैसे अन्‍य देशों से तुलना की जाए, तो भारत में हालात इतने ज्‍यादा खराब नहीं हैं।