मियामी ओपन की विजेता बनीं एश्ले बार्टी, चोट की वजह से बियांका आंद्गेस्क्यू मुकाबले के बीच से हटी

624

दुनिया की नंबर एक महिला टेनिस खिलाड़ी एश्ले बार्टी ने शनिवार देर रात को यहां बियांका आंद्गेस्क्यू के मुकाबले के बीच से हटने पर मियामी ओपन टेनिस टूर्नामेंट में लगातार दूसरा खिताब जीता। ऑस्ट्रेलिया की बार्टी जब 6-3, 4-0 से आगे चल रही थीं तब बियांका आंद्गेस्क्यू ने पैर की चोट के कारण मुकाबले से हटने का फैसला किया।

बार्टी ने महिला सिंगल्स के इस खिताबी मुकाबले में पहला सेट 6-3 से अपने नाम किया था और वह दूसरे सेट में भी 4-0 से आगे चल रही थीं तब आंद्गेस्क्यू को दाहिने टखने में चोट के कारण रिटायर होना पड़ा जिसके बाद बार्टी को मियामी ओपन टेनिस टूर्नामेंट की चैंपियन घोषित कर दिया गया। हालांकि, वे इस बात से खुश नहीं है कि फाइनल इस तरह समाप्त हुआ।

मियामी ओपन की विजेता बनने के बाद एश्ले बार्टी ने कहा, “फाइनल मुकाबले को कभी भी इस तरह खत्म नहीं करना चाहेंगे। मुझे आंद्गेस्क्यू के लिए अफसोस हो रहा है। मैं उम्मीद करती हूं कि वह जल्द ठीक हो जाएं।”

सानिया और अंकिता बिली जीन किंग कप के लिए तैयार

देश की शीर्ष टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा और अंकिता रैना ने लातविया के खिलाफ होने वाले बिली जीन किंग कप व‌र्ल्ड ग्रुप प्लेऑफ मुकाबले के लिए साथ मिलकर ट्रेनिंग की। सानिया और अंकिता ने एक सप्ताह तक साथ मिलकर ट्रेनिंग की।

इतिहास में पहली बार भारतीय महिला टेनिस टीम ने व‌र्ल्ड ग्रुप के प्लेऑफ में जगह बनाई है। करमान कौर थांडी, जील देसाई और रूतुजा भोसले भी पांच सदस्यीय टीम में शामिल हैं। पिछले महीने अखिल भारतीय टेनिस संघ की चयन समिति ने टीम का चुनाव किया था जिसमें रिया भाटिया को रिजर्व खिलाड़ी के तौर पर शामिल किया गया।

भारत मार्च 2020 में संयुक्त अरब अमीरात में एशिया/ओसनिया ग्रुप-ई में दूसरे स्थान रहा था जिसके बाद उसने पहली बार व‌र्ल्ड ग्रुप प्लेऑफ में जगह बनाई थी जबकि लातविया को अपने ग्रुप में अमेरिका से हार का सामना करना पड़ा था।

भारत के लिए लातविया के खिलाफ मुकाबला आसान चुनौती नहीं होगी क्योंकि उसकी टीम में फ्रेंच ओपन की पूर्व विजेता और मौजूदा रैंकिंग में 54वें स्थान पर मौजूद जेलेना ओस्तापेंको और विश्व की 11वें नंबर की खिलाड़ी और 2018 यूएस ओपन के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली अनास्तासिजा सेवास्तोवा शामिल हैं।