प्रदूषण में गुम हुआ ताजमहल, किले से भी नहीं आ रहा नजर

309

आगरा. ताजनगरी में धुंध और धुएं के बीच प्रदूषण का स्तर खतरनाक हो गया है. ताजमहल पर भी धुंध की चादर तनी हुई है. हालात इस कदर खराब हो गये हैं कि आगरा किले से अब ताजमहल ओझल नजर आता है. जबकि दस दिन पहले तक पर्यटक किले की छत से बड़ी आसानी से ताजमहल का दीदार किया करते थे. प्रदूषण का स्तर आगरा में दस दिनों से खतरनाक स्तर पर बना हुआ है. आगरा में ताजमहल यमुना किनारा रोड से स्पष्ट नजर आता था. इस रोड से आने जाने वाले पर्यटक अक्सर किले के पास बने राजकीय उद्यान से ताज वाली सेल्फी जरूर लेते थे. अब सर्दी की दस्तक होने के साथ ही प्रदूषण इस कदर बढ़ा कि ताजमहल यमुना किनारा रोड से अत्यंत धुंधला दिखाई पड़ रहा है.

आगरा किले के  पास ही राज्य सरकार ने शानदार उद्यान बनवाया है. इस उद्यान में बैठकर पर्यटक आगरा किले और ताजमहल को एक साथ निहारा करते थे. लेकिन अब उद्यान से ताजमहल नजर नहीं आने से पर्यटक निराश है. आगरा किले की छत से भी अब ताजमहल साफ नहीं दिखाई पड़ता है. हालात इतने विकट हैं कि ताजमहल परिसर में प्रवेश करने के बाद ही ताजमहल का दीदार हो रहा है.

बेधड़क जलाया जा रहा कूड़ा ताजनगरी में कूड़ा जलाने पर एनजीटी की सख्त रोक है. ताजमहल की सेहत को लेकर यह रोक लगाई गयी है. सुप्रीम कोर्ट भी ताजमहल की सेहत को लेकर तल्ख टिप्पणी कर चुका है. इन सबके बावजूद  नगर निगम लापरवाह बना हुआ है.

सुबह होते ही टीपी नगर, आगरा फोर्ट के पास, बिजली घर चौराहे के पास कूड़ा जलते नजर आ जाता है. कूड़ा जलाने के बाद धुएं का सीधा असर ताजमहल पर पड़ता है. इसके अलावा जगह-जगह सड़क निर्माण की वजह से धूल उड़ती है. पानी छिड़काव के निर्देश भी दिये गये लेकिन उसका ज्यादा पालन होता नहीं दिखता है.

माना जा रहा है कि अभी प्रदूषण और बढ़ेगा. हवाओं की गति कम है जिसकी वजह से शांत मौसम में धूल और धुएं से ताजनगरी की चिंता बढ़ती जा रही है. जब ठंड बढ़ेगी  तो घना कोहरा छायेगा जो ताजमहल की सेहत को और खराब करेगा.