पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर सकलैन मुश्ताक का बड़ा बयान, कहा- BCCI ने धोनी के साथ अच्छा नहीं किया

539

पाकिस्तान के पूर्व ऑफ स्पिनर सकलैन मुश्ताक ने कहा कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने एमएस धोनी के साथ सही व्यवहार नहीं किया है और उनकी विदाई बिना फेयरवेल मैच के नहीं होनी चाहिए। सकलैन ने कहा कि धोनी के लाखों प्रशंसक हैं और वे उन्हें आखिरी बार भारतीय जर्सी में देखना चाहते थे।

सकलैन मुश्ताक ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, “मैं हमेशा सकारात्मक बातें कहता हूं और किसी भी तरह से नकारात्मकता नहीं फैलाने की कोशिश करता हूं लेकिन मुझे लगता है कि मुझे यह कहना चाहिए। यह बीसीसीआई की हार की है। BCCI ने उनके जैसे बड़े खिलाड़ी के साथ सही तरीके से व्यवहार नहीं किया। धोनी का इस तरह रिटायरमेंट नहीं होनी चाहिए थी। ये मेरे दिल की आवाज है और मेरा मानना है कि उनके लाखों फैंस भी ऐसा ही महसूस कर रहे हैं होंगे। मुझे BCCI से वास्तव में खेद है कि मैं यह कह रहा हूं लेकिन उन्होंने धोनी के साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया, मुझे भी इस बात का दुख है। इतना बड़ा खिलाड़ी और उसका इस तरह रिटायरमेंट लेना।”

धोनी ने 15 अगस्त को भारत के 74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की। उनके कुछ देर बाद ही रैना ने भी इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया।

उन्होंने कहा, “आखिरी बार इंडियन जर्सी में उन्हें रिटायर होते हुए देखना बहुत अच्छा होगा। उनके फैंस का भी यही मानना होगा। मुझे खुशी है कि वह आईपीएल में खेलेंगे। लेकिन उनका रिटायरमेंट अलग होना चाहिए था। हर क्रिकेटर के कुछ सपने होते हैं, मेरे भी थे लेकिन चोट के कारण मेरे साथ भी नहीं हो सका। लेकिन मेरा मानना है कि हर क्रिकेटर इस खेल से उसी तरह की विदाई चाहता है, जैसे वो एंट्री करता है। मुझे यकीन है कि धोनी का यह सपना रहा होगा।”

सकलैन ने कहा, “मैं दुआ करता हूं कि धोनी आगे जो भी करें, उसमें उन्हें कामयाबी मिले। जिस भी फील्ड में वो जाएं, अपने भारत का झंडा लहरायें। मुल्क का नाम रोशन करें और अपना नाम रोशन करें।”

इंग्लैंड के मैनचेस्टर में विश्व कप 2019 में भारत की सेमीफाइनल हार के बाद से धोनी ने कोई प्रतिस्पर्धी क्रिकेट मैच नहीं खेला है और अब वो आईपीएल 2020 में चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान के रूप में मैदान पर वापसी करेंगे। आईपीएल का 13वां संस्करण यूएई में 19 सितंबर से शुरू होगा।