पीएम नरेंद्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट – मेरठ वासियों को इसी महीने मिल सकता है एक्सप्रेस-वे का तोहफा, जाने कितना है बाकि

177

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोगों को नए साल का सबसे बड़ा गिफ्ट मिलने वाला है. नरेन्द्र मोदी सरकार वेस्ट यूपी के लोगों को हाईवे की सौगात देने जा रही है. मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस वे का कार्य लगभग पूर्ण हो गया है. अगर सब कुछ ठीक रहा तो इसी महीने के आखिर तक हाईवे का ये तोहफा जनता को मिल जाएगा. इसे पीएम मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट के रूप में भी देखा जा रहा है. इस सौगात से वेस्ट यूपी के लोगों में खुशी की लहर देखी जा सकती है.

यूं तो दिल्ली से मेरठ मात्र 60 किलोमीटर है, लेकिन इस सफर को पूरा होने में पांच से छह घंटे लग जाते हैं. अब इस कठिन सफर का समापन होने वाला है. अब वेस्ट यूपी के लोगों को जाम के इस झाम से मुक्ति मिलने वाली है. क्योंकि अब मेरठ दिल्ली एक्सप्रेस वे बनकल लगभग तैयार है. अगर सब कुछ ठीक रहा तो इस बार मेरठवासियों और वेस्ट यूपी के लोगों की 26 जनवरी हाईवे वाली होगी.

मेरठ दिल्ली एक्सप्रेस वे पर अब मात्र दो किलोमीटर का ही कार्य शेष रह गया है. एक किलोमीटर का कार्य डासना और एक किमी का काम परतापुर क्षेत्र में बचा हुआ है. इसके बाद दिल्ली से मेरठ का सफर मात्र 45 से 50 मिनट में तय हो जाएगा. फिलहाल, डासना से मेरठ के बीच एक रेलवे ओवरब्रिज को कनेक्ट किया जाना बाकी है. एप्रोच रोड को फाइनल टच दिया जा रहा है. मेऱठ हापुड़ लोकसभा सीट के सांसद का दावा है कि जनवरी के आखिर तक इस हाईवे का कार्य पूर्ण हो जाएगा. सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने ख़ुद डासना से मेरठ तक एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्य का जायजा लिया. सांसद राजेन्द्र अग्रवाल ने भाजपा नेताओं के साथ एक्सप्रेस-वे पर 32 किमी का सफर कर निर्माण कार्य का जायजा लिया.