नीतीश कुमार ने गिनाए कोरोना काल में किये गए अपने काम, कहा- कुछ लोग बस बोलते हैं

505

कोरोना केस में बढ़ोतरी के साथ ही बिहार विधानसभा चुनाव की सरगर्मी भी तेज हो गई है. आज बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार निश्चय संवाद के नाम से वर्चुअल रैली को संबोधित कर रहे हैं. नीतीश कुमार ने अपने संबोधन में बताया कि डिजिटल दौर में पार्टी ने jdulive.com की शुरुआत की है.

नीतीश कुमार ने अपने भाषण की शुरुआत में कोरोना पर सरकार द्वारा किए गए कार्यों की चर्चा की. लॉकडाउन से लेकर अनलॉक में जो भी नियम बनाए गए उस पर काम करने की बात नीतीश कुमार ने कही. उन्होंने विपक्ष के सवालों पर जवाब देते हुए ये भी कहा कि कुछ लोग आलोचना करते रहते हैं, बोलते रहते हैं लेकिन हमने शुरुआत से ही कोरोना जांच बढ़ाने के लिए कहा था. आज बिहार में हर दिन 1 लाख 50 हजार से ज्यादा जांच हो रही है.

नीतीश कुमार ने बताया कि कोरोना मरीजों के लिए बेड, ऑक्सीजन का पर्याप्त इंतजाम है और जितनी व्यवस्था है उसका पूरा इस्तेमाल भी नहीं हो पा रहा है.

आर्थिक मदद भी दी

नीतीश कुमार ने ये भी बताया कि कोरोना से मरने वाले लोगों के परिजनों को सरकार की तरफ से 4 लाख रुपये की मदद दी जा रही है. डॉक्टरों के उत्साहवर्जन के एक महीने का अधिक वेतन दिया जा रहा है. साथ ही लॉकडाउन में फंसे मजदूरों की पूरी मदद की गई. इसके अलावा राशनकार्ड धारकों की मदद की गई.