केंद्रीय खाद्घ मंत्रालय ने शुगर एक्सपोर्ट पर सब्सिडी प्रस्ताव घटाया, जानिए क्या होगा इसका असर

169

शुगर इंडस्ट्री के लिए शुगर एक्सपोर्ट पर सब्सिडी का प्रस्ताव घटा दिया गया है. आज शाम को शुगर एक्सपोर्ट पर दी जाने वाली सब्सिडी को लेकर बैठक भ होनी है. पहले शुगर एक्सपोर्ट पर सब्सिडी का प्रस्ताव 9.5 रुपये प्रति किलोग्राम करने की मांग थी. अब इस घटाकर 6 रुपये प्रति किलाग्राम कर दिया गया है. प्राप्त जानकारी के अनुसार, खाद्घ मंत्रालय ने सब्सिडी का प्रस्ताव घटाया है. नवंबर महीने के आखिरी सप्ताह में केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल शुगर इंडस्ट्रीज के साथ बैठक की थी.

कुछ दिन पहले ही शुगर इडस्ट्री ने अत्यधिक स्टॉक के कारण चीनी कीमतों को लेकर चिंता जाहिर की थी. यह इंडस्ट्री अक्टूबर-नवंबर में अपनी बैलेंस शीट तय करता है, जिसमें अपेक्षित उत्पादन, पिछले साल के स्टॉक का कैरी फॉरवर्ड, घरेलू खपत और निर्यात को ध्यान में रखा जाता है.

एक रिपोर्ट के अनुसार जिस सीजन की शुरुआत हुई, उसके लिए सालाना उत्पादन 326 लाख टन (इथेनॉल के बिना) होने का अनुमान लगाया गया और सीजन की शुरुआत 107 लाख टन के स्टॉक से हुई. हालांकि, उद्योग के सूत्रों का अनुमान है कि चीनी का उत्पादन 20 लाख टन कम हो सकता है क्योंकि मिलों से इथेनॉल का उत्पादन होने की उम्मीद है और इस प्रकार इस सीजन में कुल उपलब्ध चीनी बैलेंस 413 लाख टन होने की उम्मीद है. 260 लाख टन की घरेलू खपत में कटौती के बाद, अगले सीजन (2021-22 के सीजन) का शुरुआती स्टॉक 155 लाख टन होने का अनुमान है.