कमर्शियल गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन को लेकर उत्तर प्रदेश में आज से नया नियम लागू

167

28 सितंबर 2020 से पूरे उत्तर प्रदेश में कमर्शियल गाड़ियों को लेकर नया नियम  लागू हो गया है. उत्तर प्रदेश में अब प्राइवेट गाड़ियों की तर्ज पर ही कमर्शियल गाड़ियों का भी रजिस्ट्रेशन डीलर के जरिए ही किये जाएंगे. उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग ने आज से ये नियम लागू भी कर दिया है. योगी सरकार की इस नई व्यवस्थ में कमर्शियल गाड़ी खरीदने वालों को आरटीओ कार्यालय जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. अब प्राइवेट गाड़ियों की तरह शोरूम से ही डीलर कमर्शियल गाड़ियों का भी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराएंगे.

बता दें कि पहले कमर्शियल वाहनों के रजिस्ट्रेशन के लिए आरटीओ ऑफिस का चक्कर लगाना पड़ता था.  हालांकि, फिटनेस सहित अन्य तरह के सर्टिफिकेट के लिए अभी भी आरटीओ ऑफिस का ही चक्कर लगाना पड़ेगा. इस प्रक्रिया के शुरू होने से आम लोगों को काफी सहूलियत मिलेगी. कोरोना काल में इससे लोगों को आरटीओ के चक्कर लगाने से छुटकारा मिलेगा. साथ ही वाहन का रजिस्ट्रेशन निर्धारित समय में पूरा कर दिया जाएगा.

गाजियाबाद के एआरटीओ विश्वजीत सिंह कहते हैं, ‘यूपी शासन की तरफ से नया आदेश जारी किया गया है. आगामी 28 सितंबर से जिस शोरूम से कमर्शियल गाड़ी खरीदी जाएगी वहीं से ऑनलाइन कागजों को आरटीओ कार्यालय भेजा जाएगा. आरटीओ कार्यालय दस्तावेजों की जांच करके गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर जारी कर देगा. गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर शोरूम भेज दिया जाएगा. वहीं से गाड़ी मालिक आरसी पेपर ले सकेंगे. अभी तक हल्के वाहनों में दो या चार पहिया गाडि़यों के रजिस्ट्रेशन डीलर प्वांइट से हो रहा था. लेकिन, अब कमर्शियल वाहनों को भी इसमें जोड़ा जा रहा है. अब कमर्शियल गाड़ियों की भी इसी तरह रजिस्ट्रेशन किए जाएंगे.