आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा ,योगी सरकार ने 3 महीने में मुझ पर जितने केस किए उतने किसी माफिया पर भी नहीं हुए

1287
AAP MP Sanjay Singh
AAP MP Sanjay Singh

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने शुक्रवार को सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उनके खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज करने पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि, ‘योगी सरकार द्वारा उनके खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई का मुख्य कारण यह है कि वह यूपी में ब्राह्मणों और दलितों के खिलाफ हिंसा और अत्याचार पर लगातार आवाज उठा रहे हैं। वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी कह रहे हैं कि मैं देशद्रोही हूं। पिछले 3 महीने में लगभग 13 मुकदमे उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने मुझ पर लगाए हैं।’

‘इतने मुकदमे तो किसी माफिया पर भी नहीं हुए’

संजय सिंह ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि 3 महीने में 13 मुकदमे उत्तर प्रदेश में आज तक किसी माफिया के खिलाफ नहीं हुए। आम आदमी पार्टी के राज्य सभा सांसद ने कहा कि 12 विभिन्न राजनीतिक दलों के 37 सांसद एकजुटता के साथ मेरे साथ हैं और उन्होंने माननीय राज्यसभा सभापति से इस मुद्दे के खिलाफ जांच कराने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस, टीएमसी, सपा, शिवसेना, राजद, टीआरएस, टीडीपी, डीएमके, अकाली दल, एनसीपी और कई अन्य सांसदों ने उनका समर्थन किया है। संजय ने कहा कि माननीय राज्यसभा के सभापति ने सदन को यह सुनिश्चित किया है कि इस मामले की जांच की जाएगी। वहीं 20 सितंबर को वह लखनऊ पुलिस के सामने पेश होंगे।

‘मैं देशद्रोही हूं तो मुझे जेल में डाला जाए’
संजय सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि, ‘मैंने चिट्ठी लिखकर सभापति महोदय से इस पूरे प्रकरण की जांच करने की मांग की है और 12 अलग-अलग राजनीतिक दलों के सांसदों ने भी चिट्ठी लिखकर मेरा समर्थन किया है। मैंने सभापति महोदय से आग्रह किया है कि अगर मैं देशद्रोही हूं तो मेरे खिलाफ कार्रवाई की जाए और मुझे जेल में डाला जाए और यदि नहीं हूं तो इस प्रकार के झूठे केस मुझ पर लगाने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।’ बता दें कि AAP नेता संजय सिंह के खिलाफ लखनऊ पुलिस ने हजरतगंज थाने में दर्ज मामले में राजद्रोह की धारा जोड़ दी है। साथ ही उन्हें 20 सितंबर तक हजरतगंज पुलिस थाने के जांच अधिकारी एके सिंह के समक्ष उपस्थित होने के लिए नोटिस भी भेजा गया है।