अंतरराष्ट्रीय बाजारों में फिसली चांदी, सोना में भी 0.6 फीसदी की गिरावट, जाने कीमतों में उतार-चढ़ाव के प्रमुख कारण

224

कोविड-19 की वैक्सीन पर सकारात्मक खबरों से विश्वभर में इक्विटी बाजारों के अनुरूप आज भारत में सोने की चांदी की वादया कीमत में गिरावट आई। एमसीएक्स पर फरवरी का सोना वायदा 0.6 फीसदी गिरकर 49815 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया, जबकि चांदी वायदा 1.2 फीसदी गिरकर 64,404 रुपये प्रति किलोग्राम हो गई। पिछले सत्र में सोना 0.2 फीसदी अधिक था जबकि चांदी का दाम 0.6 फीसदी कम हुआ था।

अंतरराष्ट्रीय बाजारों में, सोने की कीमतों में आज गिरावट आई क्योंकि वैक्सीन के विकास ने निवेशकों को जोखिम वाले इक्विटी की ओर धकेल दिया है। लेकिन अधिक अमेरिकी प्रोत्साहन की उम्मीद ने सोने को निचले स्तरों पर सहारा दिया। हाजिर सोना 0.3 फीसदी गिरकर 1,865.46 डॉलर प्रति औंस हो गया।

अन्य कीमती धातुओं में चांदी 0.7 फीसदी फिसलकर 24.38 डॉलर प्रति औंस पर आ गई, जबकि प्लैटिनम 0.6 फीसदी बढ़कर 1,028.17 डॉलर और पैलेडियम 0.1 फीसदी बढ़कर 2,311.87 डॉलर हो गया।

अमेरिकी डॉलर में उतार-चढ़ाव, बढ़ते कोरोना वायरस के मामले और इससे संबंधित प्रतिबंध, प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं से मिश्रित आर्थिक डाटा, अतिरिक्त प्रोत्साहन उपायों और ब्रेक्सिट अनिश्चितता से सोने और चांदी की कीमत में उतार-चढ़ाव देखा जा रहा है। हाल के सुधार के बावजूद, सोना, जिसको मुद्रास्फीति के खिलाफ एक बचाव के रूप में देखा जाता है, इस साल करीब 25 फीसदी ऊपर है। ईटीएफ का प्रवाह सोने में कमजोर निवेशक रुचि को दर्शाता है। विश्लेषकों का कहना है कि पिछले कुछ हफ्तों में सोने की कीमत पर सबसे बड़ा कारक वैक्सीन के मोर्चे पर प्रगति है।